September 28, 2022

गौतम बुध नगर : ग्रेटर नोएडा ट्रेफिक पुलिस तप्ती तेज़ धूप, बारिश, तूफान में हमेशा आपकी सेवा और सुरक्षा में सदैव तत्पर तैयार।

उत्तर प्रदेश के जनपद गौतम बुद्ध नगर से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। दिन-रात जनता की सेवा और सुररक्षा करने वाले ट्रैफिक पुलिसकर्मी ना तो धूप देखते हैं, ना तूफान, ना बारिश और ना ही तेज़ आंधी हमेशा जनता की सुरक्षा और सेवा में तत्पर तैयार रहते हैं, ऐसे ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के लिए क्या कोई ट्राफिक बूथ या कोई आईलैंड होना चाहिए या नहीं। जिससे ट्रैफिक पुलिसकर्मी सुरक्षित रहे और आने जाने वाले लोगों को ट्रैफिक नियमों का पालन भी कराते रहें। जो ट्रैफिक पुलिस कर्मी जनता के लिए अपनी जान की परवाह किए बगैर जनता की तप्ती धूप में सेवा और सुरक्षा करता है और ट्रैफिक नियमों का पालन कराता है ऐसे ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के लिए कुछ सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम होने चाहिए।

ट्रैफिक पुलिस कर्मी किसी का चालान काटे तब कुछ उपद्रवी लोग उससे बदतमीजी और दुर्व्यवहार करने लगते हैं। ट्रैफिक पुलिस कर्मी ट्रैफिक नियमों का पालन करवाएं तब कुछ उपद्रवी लोग उससे बदतमीजी और दुर्व्यवहार करते हैं, जो ट्रैफिक पुलिस कर्मी जनता की सेवा और सुरक्षा करता है, ऐसे ट्रैफिक पुलिस कर्मी की सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की और आम जनता की भी होनी चाहिए ट्रैफिक पुलिस कर्मी जहां खड़े होते हैं, जिस चौराहे पर तैनात रहते हैं, ना तो वहां पर पीने वाले पानी का इंतजाम होता है, ना ही शौचालय का इंतजाम होता है और अगर कुछ इमरजेंसी पड़ जाए किसी ट्रैफिक पुलिसकर्मी की तबीयत खराब हो जाए, बुखार आ जाए या उल्टी, चक्कर आ जाए तो आराम करने के लिए कोई ट्रैफिक बूथ या कोई ऐसा स्थान नहीं होता है जहां पर वह 2 से 4 मिनट आराम कर ले और दवाई लेकर वापस से अपनी ड्यूटी पर तैनात हो जाए।

मेरा उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और हमारे देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी से हाथ जोड़कर निवेदन है की जनता की लगातार सुरक्षा और सेवा करने वाले ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के लिए सभी चौराहों पर ट्रैफिक बूथ और आईलैंड की व्यवस्था की जाए उनके लिए पीने वाले पानी की व शौचालय की भी व्यवस्था की जाए क्योंकि जब जनता की सुरक्षा करने वाला ही सुरक्षित नहीं है तो जनता कैसे सुरक्षित रह सकती है, मैं हमेशा देखता हूं ट्रैफिक पुलिस कर्मी अपनी जान की परवाह किए बगैर बीच चौराहे पर खड़े होकर बगैर आइलैंड के जनता की रक्षा करते है और हमेशा भूखे, प्यासे पेट ना तो धूप देखते है, ना तूफान देखते है, ना आंधी देखते है, और ना बारिश देखते है सिर्फ और सिर्फ जनता की सेवा और रक्षा करते है।

मेरा उत्तर प्रदेश के प्रशासन के संबंधित अधिकारियों व ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण से निवेदन है कि जनता की सेवा और सुरक्षा करने वाले ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के लिए जल्दी से जल्दी गौतम बुध नगर के सभी चौराहों पर आईलैंड और ट्रैफिक बूथ की व्यवस्था की जाए और उनके लिए पीने वाली पानी व शौचालय की भी व्यवस्था की जाए।

ट्रैफिक पुलिस के आईलैंड क्या होते हैं :- शहर के ट्रैफिक सिस्टम को स्मूथ चलाने और ट्रैफिक पुलिस कर्मियों कै खड़े होने के लिए सिटी के चौराहों पर आईलैंड बनाए जाते हैं। जिससे ट्रैफिक पुलिसकर्मी जनता के लोगों को यातायात के नियमों का पालन करा सके वे ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त कर सकें। आईलैंड के अंदर पंखे और पानी की सुविधा भी की जाती है इसलिए शहर के सभी चौराहों पर आईलैंड बनाए जाते हैं लेकिन उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर जिले के ग्रेटर नोएडा में किसी भी चौराहे पर ट्रैफिक आईलैंड और ट्रैफिक बूथ नहीं है। हम बात करें ग्राम कुलेसरा, ग्राम हल्द्वानी, ग्राम सुत्याना, कच्ची सड़क दादरी मेन रोड, यामाहा कट सूरजपुर, सूरजपुर घंटा गोल चक्कर, दुर्गा टॉकीज सूरजपुर अन्य कई चौराहों पर ट्रैफिक आईलैंड और ट्रैफिक बूथ की सुविधाएं नहीं है, जिससे हमारी सुरक्षा हमारी सेवा करने वाले ट्रैफिक पुलिस कर्मियों को बहुत ही समस्याओं का सामना करना पड़ता है। धन्यवाद

पत्रकार वसीम अहमद

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.