December 8, 2022

Ghaziabad : विदेशी लड़कियां व लड़के बनकर दोस्ती करने वह शादी का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

विदेशी लड़कियां व लड़के बनकर दोस्ती करने वह शादी का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश साइबर सेल एवं थाना विजय नगर गाजियाबाद पुलिस द्वारा विदेशी लड़कियां, लड़के बनकर दोस्ती करने वह शादी का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह के मुखिया नाइजीरियन अभियुक्त सहित दो और अभियुक्त को गिरफ्तार किया है इनके कब्जे से 32 एटीएम कार्ड 5 मोबाइल फोन 6 चेक बुक और दो पासबुक आदि बरामद हुई है यह सभी अभियुक्त इतने शातिर हैं कि खुद को विदेशी लड़कियों और लड़के बनकर भोले भाले लोगों से दोस्ती करते थे और उन्हें शादी का झांसा देकर उनसे ठगी करते थे पुलिस पूछताछ के द्वारा अभियुक्त ने बताया कि हम लोग सोशल मीडिया के द्वारा भारतीय लोगों से दोस्ती करके उन्हें शादी का झांसा देकर खुद को भारत घूमने की बात करते हुए महंगे महंगे गिफ्ट लाते समय स्वयं को एयरपोर्ट पर पकड़ा जाना बताकर कस्टम विभाग को पैसे देने की बात बताते हुए भारतीय लोगों से ठगी करते हैं यह लोग करीब जनता को पैसे का लालच देकर उनके फर्जी आधार कार्ड तैयार करके उसी फर्जी आईडी पर सिम कार्ड खरीद कर तथा बैंक खाता खुलवा कर लोगों को कॉल करके खुद को विदेशी डॉक्टर, इंजीनियर या बिजनेसमेंन बताकर जनता के साथ ठगी करते थे अभियुक्त नाइजीरियन टूटी हुई दीवार के पास नियर डी 315 के पास कृष्णा पार्क 2nd फ्लोर साउथ दिल्ली में रहता है इसकी उम्र करीब 38 वर्ष है यह गैंग का मुख्य सदस्य हैं जो अप्रैल 2019 में 6 माह के वीजा पर भारत आया था उसके बाद से यही दिल्ली में छुप कर रहा था पूर्व में उत्तराखंड पुलिस द्वारा भी जेल भेजा जा चुका है लड़का और लड़की दोनों की आवाज बदलकर बात कर लेता है इंटरनेट के माध्यम से सोशल मीडिया पर भारतीय लोगों से मुलाकात कर ठगी करने का कार्य करता है एटीएम से पैसे निकालने का काम भी इसी का था ठगी का 93% हिस्सा यह अपने पास रखता था दूसरा अभियुक्त अरविंद वर्मा पुत्र स्वर्गीय सरवनंद सागर निवासी 405 सृष्टि अपार्टमेंट सावेरी नोएडा में रहता है इसकी उम्र लगभग 34 वर्ष है और यह 12वीं पास है इसका मुख्य कार्य गरीब जनता को तलाश कर उनके फर्जी आधार कार्ड तैयार करना, बैंक खाता खुलवाना, बैंक खाता खुलवाने पर 3000 रूपए देते थे उसके बाद सिम उपलब्ध कराना था ठगी के पैसे में 7% हिस्सेदारी लेता था तीसरा अभियुक्त प्रिंस पांडे पुत्र संजय पांडे निवासी वृंदावन कॉलोनी नोएडा में रहता है इसकी उम्र लगभग 24 वर्ष है यह भी 12वीं पास है इसका मुख्य कार्य है गरीब जनता को तलाश करने का कार्य फर्जी आधार कार्ड तैयार करना बैंक खाता खुलवाना बैंक से एटीएम से पैसे रिसीव कर नाइजीरियन तक पहुंचाने का कार्य इसी का था साइबर सेल गाजियाबाद एवं थाना विजयनगर पुलिस को यह बहुत बड़ी कामयाबी मिली है श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद गाजियाबाद द्वारा धोखाधड़ी करने वाले अभियुक्तों के विरूद्ध चलाए जा रहे अभियान ऑपरेशन 420 के तहत दिनांक 18 मई 2022 को तीन शातिर अभियुक्तों को विजय नगर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है गिरफ्तार अभियुक्त के विरुद्ध थाना विजयनगर पर मुकदमा संख्या 1861/2021 धारा 420 अभियोग पंजीकृत है अग्रिम आवश्यक कार्यवाही की जा रही है धन्यवाद

पत्रकार वसीम अहमद

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *