September 28, 2022

Ghaziabad : गाजियाबाद पुलिस ने चलाया चार पहिया वाहन चोरों को पकड़ने का अभियान। क्राइम ब्रांच गाजियाबाद द्वारा अंतर्राज्यीय ग्रहों का पर्दाफाश।

उत्तर प्रदेश के जनपद गाजियाबाद से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। क्राइम ब्रांच गाजियाबाद द्वारा वाहन चोरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए महंगे चार पहिया वाहनों को चोरी करने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 15000 रूपए के इनामी अपराधी सहित चार अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। जिनके कब्जे से तीन कारें बरामद हुई है। पुलिस पूछताछ के दौरान अभियुक्तों ने अपना नाम बताया वसीम अल्वी, साहिल अल्वी, पुनीत उर्फ गुड्डू, अकरम अल्वी बताया जो लोग भाग गए उनका नाम अमित त्यागी, शहंशाह उर्फ राजा आरिफ कबाड़ी, अमित उर्फ प्यारे लाल शर्मा बताया। अभियुक्त पुनीत उर्फ़ गुड्डू ने बताया कि मेरे भाई लोकेश का एक संगठित गिरोह है मेरा भाई पहले पकड़ा जा चुका है। जिससे चोरी की गाड़ियां बरामद हुई थी। उसके जेल जाने के बाद यह काम मैंने संभाल लिया हम लोग वाहनों को दिल्ली, गाजियाबाद, मेरठ, नोएडा, हापुड़, बुलंदशहर से चोरी करते हैं, गाड़ी चोरी करने से पहले हम लोग रेकी करते हैं फिर मौका मिलते हम लोग गाड़ी का पिछला दरवाजा पेचकस जैसी वस्तु से तोड़कर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के माध्यम से नकली चाबी बना लेते हैं और फिर गाड़ी चोरी करके कुछ दूर जाने के बाद उसकी नंबर प्लेट चेंज कर देते हैं, और जीपीएस चेक करते हैं उसको निकाल कर भी फेंक देते हैं, फिर चोरी की गाड़ी को पहले बहजोई जनपद संभल भेजते हैं जहां पर शहंशाह व उसका पिता आरिफ कबाड़ी इंजन नंबर वे चेसिस नंबर बदल देता है। हमारा साथी अमित त्यागी मेरठ के आसपास की चोरी की गाड़ियों को छुपाता है और मौका मिलते ही बहजोई संभल आरिफ के पास भेज देता है। जब आरिफ वह शहंशाह उर्फ राजा उनके इंजन व चेसिस नंबर बदल देते हैं तो हम उसके नए कागज बनाकर उसको अमित उर्फ प्यारेलाल शर्मा के माध्यम से बेच देते हैं। आज हम इन तैयार चोरी की गाड़ियों को बेचने जा रहे थे। जो भी फायदा होता है आपस में बाट लेते हम लोग गाड़ियों की चोरी करके अपने शौक व परिवारिक जरूरत पूरी करते हैं। अभियुक्तों ने पूछताछ पर बताया कि जब हम गाड़ी चुराने आते थे तो उस समय पहचान छुपाने के लिए अपनी गाड़ी के नंबर प्लेट बदलकर फर्जी नंबर प्लेट लगाकर आते थे और मोबाइल को फ्लाइट मोड पर कर लेते थे अभियुक्त गण काफी शातिर किस्म के अपराधी हैं जिनके द्वारा आसपास के राज्य में चोरी की गई वारदातों को अंजाम दिया गया है अभी तक मिली जानकारी के आधार पर गिरफ्तार बरामदगी हेतु टीमें बनाकर कार्यवाही की जा रही है इनके पास से तीन गाड़ियां बरामद हुई है शिफ्ट डिजायर कार जिसका नंबर UP14HT0431 वैगनआर कार- DL1RT7163 इको कार- DL5CK9748 है। दिनांक 6 जुलाई 2022 को क्राइम ब्रांच जनपद गाजियाबाद ट्रांस हिंडन क्षेत्र में सूचना मिली कि पिछले कुछ समय से जनपद गाजियाबाद में जो गिरोह गैंग कार चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं वो उन कारों को आज नंबर बदलकर कहीं बाहर बेचने के फिराक में है, यह लोग वसुंधरा के आसपास एलिवेटेड रोड के नीचे नहर के किनारे से जाने वाले हैं इस सूचना का तत्काल कार्रवाई करते हुए योजना बनाई गई योजना के अनुसार दोनों सरकारी गाड़ियों को इस तरह खड़ा किया गया की गाड़ियों को आगे पीछे से घेरा जा सके कुछ समय पश्चात तीन गाड़ियां आईं जिनको आगे पीछे दोनों तरफ से घेरते हुए अपनी सरकारी गाड़ियां इन तीनों गाड़ियों के आगे पीछे इस तरीके से लगाईं गई कि कोई भी गाड़ी जाने ना पाए तो तेजी से हम पुलिस वालों ने नीचे उतरकर गाड़ियों को घेरने का प्रयास किया तो तीनों गाड़ियों में बैठे वाहन चोर चारों तरफ भागने का प्रयास करने लगे चार बदमाशों को मौके पर ही पकड़ लिया और चार अन्य अंधेरे का लाभ उठाकर भाग गयें अभियुक्तों पर 15000 रूपए का इनाम घोषित था। गाजियाबाद पुलिस लगातार क्षेत्र में सराहनीय कार्य कर रही है।

पत्रकार वसीम अहमद

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.