October 3, 2022

लेबर कोडों के विरोध में नोएडा श्रम कार्यालय पर ट्रेड यूनियनों ने प्रदर्शन कर दिया ज्ञापन- गंगेश्वर दत्त शर्मा

नोएडा, मजदूर विरोधी 4 लेबर कोड़ों को लागू कराने के उद्देश्य से केंद्र सरकार आंध्र प्रदेश के तिरुपति में आज केंद्रीय श्रम मंत्रालय के अधिकारियों के साथ-साथ सभी राज्यों के श्रम मंत्रियों और श्रम अधिकारियों की बैठक चल रही है, बैठक के बाहर बड़ी संख्या में मजदूर संगठनों के कार्यकर्ता सरकार के एजेंडे के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं, इसके साथ ही पूरे देश में जगह- जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

इसी कड़ी में नोएडा संयुक्त ट्रेड यूनियन मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने जनपद गौतम बुद्ध नगर के उप श्रम आयुक्त कार्यालय सेक्टर- 3, नोएडा पर विरोध प्रदर्शन कर माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार व माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को संबोधित ज्ञापन प्रदेश की श्रमायुक्त श्रीमती शकुन्तला गौतम व उप श्रम आयुक्त श्री धमेन्द कुमार सिंह जी को ज्ञापन सौंपा उन्होंने ट्रेड यूनियन नेताओं को आश्वासन दिया कि वे अपनी संस्तुति के साथ ज्ञापन माननीय प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को भेज देंगे। साथ ही स्थानीय श्रम कार्यालय में मजदूरों की लंबित समस्याओं का शीघ्र समाधान कराने का भी उन्होंने आश्वासन दिया।

विरोध प्रदर्शन को इंटक नेता संतोष तिवारी, सीटू नेता रामसागर, गंगेश्वर दत्त शर्मा, रामस्वारथ, यूटीयूसी नेता सुधीर त्यागी, एक्टू नेता अमर सिंह, टी.यू.सी.आई. नेता उदय चन्द झा, अनमोल एंप्लाइज यूनियन के अध्यक्ष मुकेश कुमार राघव, वाइब़ो कास्टिक एंप्लाइज यूनियन के अध्यक्ष हुकम सिंह सहित कई नेताओं ने संबोधित किया। इस अवसर पर श्रमिक नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि लेबर कोड़ों के लागू होते ही मजदूर तमाम कानूनी अधिकारों से वंचित हो जाएंगे और रोजगार की असुरक्षा के साथ ही वेतन में कमी और पूंजी पतियों द्वारा मजदूरों का खुलेआम शोषण बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि अडानी, अंबानी और बहुराष्ट्रीय कंपनियों के हितों को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार मजदूर विरोधी लेबर कोड़ों को लागू करना चाहती है जिसका हम पूरी ताकत के साथ विरोध कर रहे हैं और यदि सरकार इस दिशा में और आगे बढ़ेगी तो मजदूर संगठन भी सरकार से टकराने को तैयार है।

राम सागर

मंहामत्री

नोएडा संयुक्त ट्रेड यूनियन्स मोर्चा

9899847783

पत्रकार वसीम अहमद

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.