December 9, 2022

World Environment Day 2022 : विश्व पर्यावरण दिवस आइए हम सभी अधिक से अधिक वृक्ष लगाएं और अपने पर्यावरण को स्वच्छ हम शुद्ध रखने का संकल्प लें।

पर्यावरण दिवस की किस तरह से शुरुआत हुई थी- इंसान के जीने के लिए जिस हवा, पानी, खाद की जरूरत होती है, पर्यावरण की देन है इसके बिना धरती पर जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है इसलिए अपने पर्यावरण की रक्षा करना जरूरी है।

आइए जानते हैं कि कैसे हुई थी पर्यावरण दिवस की शुरुआत।

हर साल दुनिया भर में आज यानी 5 जून को पर्यावरण दिवस मनाया जाता है, पर्यावरण दिवस के जरिए लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने की कोशिश की जाती है इंसान को जीने के लिए सभी जरूरी चीजें हमें पर्यावरण से ही मिलती है, इसलिए जरूरी होता है कि हम पर्यावरण की रक्षा करें और धरती पर संतुलन बनाए रखें। आज के इस औद्योगिक सभ्यता वाले युग में पर्यावरण प्रदूषित हो रहा है पर्यावरण में प्रदूषण के बढ़ते लेवल की वजह से कभी बारिश होती है, तो कभी सूखा पड़ जाता है, कभी आंधी आती है तो कभी भयंकर तूफान और बाढ़ ऐसे में जरूरी है कि लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक कराया जाए।

कैसे हुई थी पर्यावरण दिवस की शुरुआत?

सन 1972 में संयुक्त राष्ट्र संघ ने पर्यावरण प्रदूषण की समस्या को देखते हुए स्टॉकहोम (स्वीडन) में विश्व भर के देशों का पहला पर्यावरण सम्मेलन आयोजित किया था इसमें 119 देशों ने भाग लिया। इस सम्मेलन में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण एवं यूएनईपी का जन्म हुआ था तथा हर साल 5 जून को पर्यावरण दिवस आयोजित कर के नागरिकों को प्रदूषण की समस्या से अवगत कराने का निश्चय किया गया था इनका मुख्य उद्देश्य पर्यावरण के प्रति जागरूक लाते हुए राजनीतिक चेतना जागृत करना और आम जनता को प्रेरित करना है।

हरेन्द्र भाटी

एक्टिव सिटीज़न टीम

गौतम बुद्ध नगर

पत्रकार

वसीम अहमद

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *